Mumabi News: बीएमसी सफाईकर्मी ने किया कमाल, 50 की उम्र में 57 फीसदी नंबर से पास किया हाईस्कूल

50 की उम्र हाईस्कूल पास करने वाले 'कुंचिकोरवे माशन्ना रामप्पा'- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV
50 की उम्र हाईस्कूल पास करने वाले ‘कुंचिकोरवे माशन्ना रामप्पा’

Highlights

  • BMC सफाईकर्मी ने 50 की उम्र में पास किया हाईस्कूल
  • पढ़ा-लिखा नहीं होने की वजह से उनको ग्रेड्स नहीं मिल पा रहे थे
  • BMS अधिकारी कहते थे पढ़ाई करने पर बढ़ेगी सैलरी

Mumabi News: कहते हैं पढ़ाई की कोई उम्र नहीं होती, पर ऐसा देखने को बहुत कम ही मिलता है। लेकिन यह साबित कर दिखाया है BMC में काम करने वाले ‘कुंचिकोरवे माशन्ना रामप्पा’ ने। जी हां, बीएमसी ( बृहन्मुबंई महानगरपालिका) में काम करने वाले 50 साल के सफाईकर्मी रामप्पा ने पहले प्रयास में 10वीं का एग्जाम पास किया है। इनको 57 फीसदी नंबर मिले हैं। अब रामप्पा 12वीं का एग्जाम भी लिखना चाहते हैं। इस उम्र में हाईस्कूल पास करने के पीछे की जब वजह पूछी गई तो उन्होंने बताया कि ज्यााद पढ़ा-लिखा नहीं होने की वजह से उनकी सैलरी कम थी।  उनको ग्रेड्स नहीं मिल पा रहे थे। जब उन्होंने बीएमसी अधिकारियों से कहा तो उन्होंने कहा कि पढ़ाई करने पर सब  मिल जाएगा। इसके बाद रामप्पा ने पढ़ाई करने की ठानी और आज हाईस्कूल अच्छे नंबर से पास कर लिए हैं। 

बच्चों ने की पढ़ाई में मदद

रामप्पा ने महाराष्ट्र के राज्य माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के तहत 10वीं की परीक्षा पास की है। उन्हें मराठी में 54, हिंदी में 57, इंग्लिश में 54, गणित में 52, साइंस एंड टेक्नॉलजी में 63 और सामाजिक विज्ञान में 59 नंबर मिले है। उन्होंने बताया कि यह उनका पहल प्रयास था। रामप्पा ने नौकरी करते हुए पढ़ाई के लिए वक्त निकाला। वह नाइट स्कूल जाकर रोज तीन घंटे पढ़ते थे। उन्होंने बताया कि उनके बच्चे ग्रेजुएट हैं और उन्होंने भी उनकी पढ़ाई में मदद की। अब वो 12वीं भी पास करना चाहते हैं।

परीक्षा में करीब 14 लाख छात्रों ने भाग लिया था

गौरतलब है कि शुक्रवार को महाराष्ट्र के राज्य माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कक्षा 10वीं के परिणाम की घोषणा की। रिजल्ट ऑनलाइन माध्यम से जारी किया गया। महाराष्ट्र बोर्ड ने कक्षा 10वीं के छात्रों के लिए 15 मार्च से 4 अप्रैल 2022 तक राज्य बोर्ड परीक्षा आयोजित की थी। परीक्षा में करीब 14 लाख छात्रों ने भाग लिया था। 



Source by [author_name]

Leave a Comment