Agnipath Scheme Protest: अग्निपथ योजना को लेकर अखिलेश यादव ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- बंद करो युवाओं का अपमान

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव- India TV Hindi
Image Source : PTI/FILE IMAGE
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव
 

Highlights

  • भाजपा समर्थकों से ‘अग्निवीर’ के तथाकथित फ़ायदे गिनवाने में लगी है: अखिलेश
  • भाजपा अपने समर्थकों की सूची जारी करे जो इस योजना में अपने बच्चों को भेज रहे हैं: अखिलेश
  • प्रवचन देने से अच्छा है भाजपाई ख़ुद उदाहरण पेश करें: अखिलेश यादव

Agnipath Scheme Protest: अग्निपथ योजना को लेकर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सरकार पर निशाना साधा है। अखिलेश यादव ने ट्वीट में लिखा है- ”भाजपा जिस तरह अपने समर्थकों से ‘अग्निवीर’ के तथाकथित फ़ायदे गिनवाने में लगी है, उससे अच्छा होगा कि भाजपा अपने उन सदस्यों-समर्थकों की सूची जारी करे जो इस योजना में अपने बच्चों को भेज रहे हैं। प्रवचन देने से अच्छा है भाजपाई ख़ुद उदाहरण पेश करें। भाजपा युवाओं का अपमान बंद करे।”

नहीं थम रहा अग्निपथ योजना का विरोध

बता दें, सैन्य सेवाओं में भर्ती के लिए केंद्र की अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) का विरोध थमने का नाम नहीं रहा है। इस योजना का ऐलान सरकार की ओर से 14 जून को किया गया था जिसके बाद से देश के विभिन्न हिस्सों में इसका विरोध शुरू हो गया। योजना के खिलाफ ‘भारत बंद’ के दौरान सोमवार को कुछ क्षेत्रों में सड़क और रेल यातायात आंशिक तौर पर असर पड़ा। रेलवे ने सोमवार को 587 ट्रेन को रद्द कर दिया, जबकि 10 अन्य का परिचालन विरोध प्रदर्शनों के कारण बाधित हो गया। सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र हाजीपुर मुख्यालय वाले पूर्व मध्य रेलवे का है जहां लगभग 350 ट्रेन रद्द की गई हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा ने भी अग्निपथ के विरोध को दिया समर्थन 

छात्रों के विरोध के बीच अब संयुक्त किसान मोर्चा ने भी अग्निपथ के विरोध में चल रहे आंदोलन को अपना समर्थन दे दिया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने 24 जून को देशव्यापी प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने  केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘वन रैंक वन पेंशन’ के वादे पर समर्थन जुटाकर अपना विजय अभियान शुरू किया था, लेकिन अब नयी ‘नो रैंक नो पेंशन’ योजना शुरू की है। एसकेएम ने देश के कई हिस्सों में जारी प्रदर्शन के लिए अपना समर्थन घोषित किया और अग्निपथ योजना को ‘सैन्य विरोधी, किसान विरोधी और राष्ट्र विरोधी’ करार देते हुए युवाओं से उसके खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की। 



Source by [author_name]

Leave a Comment