शिवसेना के बयान के बाद हरकत में आई कांग्रेस, पार्टी ने अपने प्रमुख नेताओं की बुलाई बैठक

शिवसेना के बयान के बाद हरकत में आई कांग्रेस, पार्टी ने अपने प्रमुख नेताओं की बुलाई बैठक
Spread the love
Image Source : PTI
Maharashtra Congress President Nana Patole

Highlights

  • शिवसेना नेता संजय राउत के बयान के बाद हरकत में आई कांग्रेस
  • अगर शिवसेना गठबंधन छोड़ना चाहती है तो ये उनका फैसला- कांग्रेस
  • शिवसेना किसी के साथ गठबंधन करना चाहती है, तो हमें कोई समस्या नहीं- कांग्रेस

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी (MVA) सरकार गिरने का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। उद्धव ठाकरे अब महज कुछ घंटों के मुख्यमंत्री हैं। मुंबई से शिवसेना के विधायकों का पलायन लगातार जारी है और एकनाथ शिंदे का कुनबा बढ़ता ही जा रहा है। वहीं, अब खबर है कि शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) के बयान के बाद कांग्रेस में नाराजगी है। संजय राउत ने कहा है कि बागी विधायक लौट कर बात करें MVA गुट से बाहर निकलने पर सोचा जा सकता है। इसके बाद कांग्रेस हरकत में आई है। शाम 5 बजे सह्याद्री गेस्ट हाउस में कांग्रेस के प्रमुख नेताओं की बैठक होगी।

गठबंधन छोड़ना चाहते हैं तो उनका फैसला- कांग्रेस नेता


वहीं, महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने बड़ा बयान दिया है। पटोले ने कहा, ”हम भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए उनके साथ हैं। ये खेल ईडी की वजह से हो रहा है। कांग्रेस फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है। हम एमवीए के साथ हैं और रहेंगे। अगर शिवसेना किसी के साथ गठबंधन करना चाहती है, तो हमें कोई समस्या नहीं है।” पटोले ने दावा किया कि उनकी बात शिवसेना MLA कैलाश पाटिल से हुई है जिन्होंने बीजेपी के बारे में उन्हें जानकारी दी है।

‘शिवसेना MVA गुट से निकलने के लिए तैयार लेकिन…’

शिवसेना की प्रेस कॉन्फ्रेंस में एकनाथ शिंदे गुट पर हमला करते हुए संजय राउत ने कहा है शिवसेना महाविकास अघाड़ी से निकलने के लिए तैयार है लेकिन ये तभी संभव है जब बागी विधायक मुंबई आकर मांग करें और बताएं कि वो ऐसा क्यों चाहते हैं। राउत ने कहा कि गुवाहाटी में बैठकर मांग करने से कोई फायदा नहीं मुंबई आकर मांग करें तो फैसला होगा।

शिंदे ने समर्थकों को साथ शेयर की नई तस्वीर

इस बीच गुवाहाटी के होटल से एकनाथ शिंदे ने अपने समर्थकों के साथ नई तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर में शिंदे को मिलाकर कुछ 42 विधायक नजर आ रहे हैं। एकनाथ शिंदे के 49 विधायकों के समर्थन का दावा कर रहे हैं जिसमें शिवसेना के 41 और 8 निर्दलीय विधायक शामिल है। बड़ी बात है कि उद्धव की सरकार गिराने के लिए शिंदे को सिर्फ 37 शिवसेना विधायकों की जरूरत थी लेकिन अब ये संख्या बढ़कर 49 हो गई है।



Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *