महाराष्ट्र के सियासी संकट में उद्धव को मिला ‘अजित’ का साथ, सह-मात के खेल में जानिए किसका पलड़ा भारी

महाराष्ट्र के सियासी संकट में उद्धव को मिला 'अजित' का साथ, सह-मात के खेल में जानिए किसका पलड़ा भारी
Spread the love
Image Source : ANI
NCP leader and Maharashtra Deputy CM Ajit Pawar

Highlights

  • महाराष्ट्र में सत्ता संकट पर सामने आए अजित पवार
  • उपमुख्यमंत्री बोले- उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे
  • पवार ने संजय राउत के बयान पर भी कही बड़ी बात

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सत्ता संकट को लेकर पल-पल घटनाक्रम बदल रहे हैं। गुरुवार को शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे की बवागत से जूझ रही पार्टी ने अपने रुख में बड़े बदलाव के संकेत ये कहकर दिए ही थे कि महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ महा विकास आघाड़ी (एमवीए) गठबंधन को छोड़ने पर विचार करने के लिए तैयार है। लेकिन इसी बीच महाराष्ट्र डिप्टी सीएम अजित पवार का बड़ा बयान सामने आ गया। अजित पवार ने कहा कि हम अंत तक उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे। हम मौजूदा राजनीतिक हालात पर नजर बनाए हुए हैं।

सियासी संकट को लेकर अजित पवार ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि हम सब साथ हैं। विधायकों की शिकायतों पर अजित ने कहा कि निधि विधायकों को नहीं मिली यह कैसे कह सकते हैं। हर जिले का गार्जियन मिनिस्टर रहता है। राज्य के सभी जिलों के लिए तीनों दलो के नेता हैं। अब निधि नहीं मिल रही थी तो उस वक्त शिकायत करते, अब कैसे कह रहे हैं? पवार ने कहा कि पार्टी के नेताओं को, प्रवक्ताओं को यह बातें बताते, हल उसी वक्त निकल जाता। अब वहां गुवाहाटी में विधायक हैं, वहां जाकर आप कैसे आरोप लगा रहे हो? 

“उद्धव को समर्थन, उनके ही साथ रहेंगे” 

डिप्टी सीएम ने आगे कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में सरकार बनी, उन्हीं को हमने समर्थन दिया। हम उनके साथ रहेंगे। बगावत करने वाला अकेला व्यक्ति कायम रहता है, बाकी तो ऐसे ही पीछे रहते हैं। उन्होंने कहा कि कोविड में पहले 5 मुख्यमंत्रियो में उद्धव ठाकरे का नाम आ रहा था। कैसे अब अचानक आपको अच्छा नहीं लग रहा? हम आख़िर तक समर्थन नहीं निकालेंगे, हम साथ मे रहेंगे। 

“विधायक चले गए, पुलिस को खबर तक नहीं”

इतना ही नहीं एनसीपी नेता और महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजीत पवार ने अपनी ही सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि कहा कि शिवसेना के विधायक दूसरे राज्यों में जाते हैं और यहां की पुलिस को भनक तक नहीं लगती। उन्होंने कहा कि यह एक तरह से इंटेलिजेंस की विफलता है। उन्होंने आगे कहा कि होम मिनिस्ट्री को इसकी जानकारी होनी चाहिए थी, सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए था। जो विधायक होटल में गए उनके हिसाब से गए।

संजय राउत के बयान पर कही बड़ी बात

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजीत पवार ने संजय राउत के महा विकास आघाड़ी को छोड़ने वाले बयान पर कहा कि सरकार बचाना तीनों दलों (एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना) की जिम्मेदारी है। केवल संजय राउत ही जानते हैं कि उन्होंने ऐसा बयान क्यों दिया। उन्होंने कहा कि मैं सीएम उद्धव को फोन करूंगा और उनसे पूछूंगा कि संजय राउत ने ऐसा बयान क्यों दिया? क्या राउत ने ये बयान सिर्फ शिवसेना के बागी विधायकों को वापस लाने के लिए दिया था? अजित पवार ने कहा कि संजय राउत के बयान पर सीएम से चर्चा करूंगा।



Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *