बेटे को मरा मान घरवाले कर रहे थे ‘श्राद्ध’, तभी अचानक कुछ ऐसा हुआ कि…

बेटे को मरा मान घरवाले कर रहे थे ‘श्राद्ध', तभी अचानक कुछ ऐसा हुआ कि...
Spread the love
Image Source : PIXABAY
Representational Image.

Highlights

  • आकाश सरकार पिछले एक महीने से लापता था।
  • पुलिस को झील में तैरती हुई लाश मिली थी।
  • पिता ने अपने बेटे के शव की पहचान की थी।

Odd News: त्रिपुरा में एक 22 वर्षीय युवक पिछले एक महीने से लापता था। मंगलवार को वह युवक जब अपने घर लौटा तो वहां के हालात देखकर हैरान रह गया। आकाश सरकार नाम के इस युवक के घर पर उसके श्राद्ध की प्रक्रिया चल रही थी। वेस्ट त्रिपुरा जिले के कालीबाजार इलाके में जब परिजनों ने युवक को अपने बीच जिंदा पाया तो उनकी खुशी का ठिकाना न रहा। हालांकि साथ ही साथ उनके मन में पुलिस के प्रति आक्रोश भी उतना ही बढ़ गया।

‘पिछले एक महीने से लापता था आकाश सरकार’

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मोहनपुर सब डिवीजन के कालीबाजार का निवासी आकाश सरकार पिछले एक महीने से लापता था। वेस्ट अगरतला पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले मेलरमठ के पास 3 जून को झील में तैरती एक लाश बरामद हुई थी। शुरुआती जांच में पाया गया कि मृतक कालीबाजार का एक निवासी था जो पिछले एक महीने से लापता था। इसके बाद पुलिस ने आकाश सरकार के परिवार से संपर्क किया और लाश मिलने की सूचना दी।

‘बैग, पैंट और टैब देखकर बेटे की पहचान की थी’
मोहनपुर सब डिविजनल अधिकारी के.बी.मजूमदार ने कहा, ‘आकाश के पिता प्रणव सरकार GBP अस्पताल पहुंचे और उन्होंने उसका बैग, पैंट और टैब देखने के बाद अपने बेटे के शव की पहचान की।’ पोस्टमॉर्टम करने के बाद बॉडी को प्रणव सरकार को सौंप दिया गया और परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘चूंकि यह मामला सही पहचान नहीं करने का है इसलिए हम जांच करेंगे और जो भी आवश्यक होगा वह करेंगे।’ वहीं, युवक के पिता ने कहा कि पुलिस ने उन पर शव की पहचान करने का दबाव बनाया था।

‘यह देखकर हैरानी हुई कि मेरा श्राद्ध हो रहा था’
प्रणव सरकार ने कहा, ‘मैंने पुलिस को बार-बार बताया कि झील से निकाली गई लाश वैसी नहीं है जैसा मेरा लापता बेटा दिखता है। पुलिस ने इस पर जोर दिया कि डूबने के कारण लाश फूल गई है। बैग में मिले टैबलेट और पैंट मेरे बेटे के थे लेकिन वह इतना तंदुरुस्त नहीं है।’ आकाश ने कहा कि वह बटाला पुल के पास रह रहा था और हाल में वहां अपनी एक बहन से मिलने गया था। उसने कहा, ‘आज उसने फोन किया और मैं घर वापस आ गया तो यह देखकर आश्चर्य हुआ कि मेरा श्राद्ध हो रहा था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *