घुटनों में दर्द का कारण एवं निवारण/घरेलू उपचार

मांसपेशियों के प्रकार और कार्य


जोपैर पूरी दुनिया की सैर करानेके लिए भगवान ने हमें दिएहैं वही पैर दैनिक चर्या पूरी करने में भी हमारा सहयोगनहीं कर पाते।

आइए जानते हैं 

घुटनों में दर्द का कारण एवंनिवारण/घरेलू उपचार

(1) मोटापाघुटनों में दर्द की एक बहुतबड़ी वजह मोटापा है क्योंकि मोटापाबढ़ने से घुटनों केजॉइंट्स पर ज़ोर पड़ताहै।

(2) घुटनोंमें दर्द होने का बहुत बड़ाकारण है लुब्रिकेंट्स (एकप्रकार की ग्रीस जोहमारे ज्वाइंट के बीच मेंहोती हैकाखत्म हो जाना।

(3) घुटनोंके जॉइंट्स के अंदर स्पेसकम हो जाना भीघुटनों के दर्द काकारण है क्योंकि स्पेसकम होने के कारण सेमूवमेंट में दिक्कत आती है, जिससे धीरेधीरे जॉइंट्स खराब होने लगते हैं।

(4) घुटनोंके जॉइंट्स में डिस्क होती है उस डिस्कके खिसक जाने से भी घुटनोंमें दर्द होने लगता है।

(5) किसीप्रकार की बाहरी चोटया आंतरिक फ्रैक्चर के कारण भीघुटनों में दर्द होता है।

(6) कैल्शियमएंड विटामिन डी इन दोनोंमें से किसी एककी भी कमी होनेसे घुटनों में दर्द महसूस होने लगता है

(7) कईबार हमें बैठने, उठने, चलने दौड़ने कीसही विधि ना जानने केअभाव में भी  घुटनोंके दर्द का सामना करनापड़ सकता है।

घुटनों में दर्द होने के लक्षण क्याक्या है?

(1) हमारेचलने का तरीका बदलजाना।

(2) सीढ़ियांचढ़ने उतरने मेंतकलीफ होने लगना।

(3) लेटेलेटे या सोते समयघुटनों में दर्द होना।

(4) घुटनोंका लचीलापन खत्म हो जाना घुटनों में स्टीफनेस जाना।

(5) अगरआपको सिर्फ रात को सोते समयही घुटनों में दर्द होता है तो यहऑर्थो अर्थराइटिस नी (OAK)  केलक्षण है।

(6) यदिआपको बैठे रहने से घुटनों मेंकिसी प्रकार की समस्या नाहो किंतु चलते वक्त या मूवमेंट केवक्त आपको घुटनों में दर्द होता है तो यहभी ऑर्थो अर्थराइटिस नी (OAK)  लक्षणहै।

आइए जान लेते हैं घुटनों में दर्द हो इसकेलिए हमें क्या करना चाहिए?और अगर होगया है तो उसकोघरेलू उपचार से किस प्रकारसे सही किया जा सकता है?

 (1) अपनेवजन को अपनी उम्रके हिसाब से नियंत्रित रखें।

 (2) शरीरमें कैल्शियम और विटामिन डीकी कमी होने दें।

 (3) फलोंएवं नट्स का सेवन अवश्यकरें।

 (4) प्रतिदिनपैदल अवश्य चलें (अगर आप शुरुआत कररहे हैं तो शुरू में10 मिनट ही चलें, फिरधीरेधीरे प्रतिदिन चलने का समय एवंचलने की गति बढ़ातेजाएं, इससे आपके जॉइंट्स एक्टिव रहते हैं तथा पैदल चलने से शरीर केलिए अन्य भी कई लाभहैं।

 (5) जबहम करवट लेकर सोते हैं तो हमारे घुटनेएक दूसरे से मिले होतेहैं जिससे घुटनों पर ज़ोर पड़ताहै इसलिए जब भी करवटलेकर सोएं तो घुटनों केबीच में तकिया अवश्य लगाएं इससे आपके घुटनों का एलाइनमेंट (alignment)  ठीकरहता है और घुटनोंके दर्द में आराम मिलता है।

 (6) हल्दीवाले दूध का सेवन प्रतिदिनकरें ऐसा करने से जॉइंट्स केदर्द से तो निजातमिलेगा ही साथ मेंहल्दी दूध लेने से होने वालेअन्य लाभ भी प्राप्त होंगे।

 (7) अगरआप सीधे लेटते या सोते हैंतो घुटनों के नीचे तकियालगा सकते हैं इससे भी आपको दर्दसे निजात पाने में मदद मिलेगी।

 (8) घुटनोंमें दर्द हो याअगर घुटनों में दर्द रहता है तो उसेठीक किए जाने से संबंधित कुछसूक्ष्म व्यायाम होते हैं आप किसी फिजियोथैरेपिस्टया योगा इंस्ट्रक्टर की सलाह सेउन क्रियाओं को प्रतिदिन अवश्यकरें।

 (9) आपअपने उठने और बैठने केतरीके में सुधार करें, आप जब भीजमीन पर बैठे  तो अपने दोनोंहाथों से सपोर्ट लेकर( पहले दोनों हाथों को अपनी दाएंतरफ से जमीन पररखें ) बैठें अगर आप हाथों कासपोर्ट नहीं लेते हैं तो आपके घुटनोंपर ज़ोर पड़ता है और धीरेधीरे यह एक गंभीरदर्द में परिवर्तित हो जाता है।इसी प्रकार से उठते समयभी अपने दोनों हाथों का सपोर्ट लेतेहुए ही  उठे।

 (10) कमसे कम 15 मिनट सूरज की धूप अवश्यलें इससे आपके शरीर में विटामिन डी की कमीनहीं रहेगी और यदि आपरोज वॉक करते हैं तो उसी दौरानआपको सूरज की डायरेक्ट धूपभी मिलती रहेगी। ऐसा करने से आप घुटनोंके दर्द से दूर रहेंगेऔर यदि आपको घुटनों में दर्द रहता है तो धीरेधीरे यह आपसे दूरहोता चला जाएगा।

 (11) यदिआप सूरज की डायरेक्ट धूपलेने में असमर्थ हैं तो आप मशरूमएवं बादाम के सेवन सेअपने शरीर में विटामिन डी की कमीपूरी कर सकते हैं।किंतु कोशिश यही करें कि आप सूरजकी डायरेक्ट धूप ले सकें।

 (12) कैल्शियमकी कमी पूरी करने के लिए दूध दूध से बने पदार्थका सेवन अवश्य करें सफेद चने एवं गुड़ का सेवन भीकैल्शियम आयरन बढ़ानेके लिए किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *