इन 7 कारणों से आपके दांत बन जाते हैं ज्यादा सेंसेटिव, शुरू होती है दांत चीसने की समस्या

Spread the love

Sensitive Teeth: आपका आइसक्रीम खाने का मन है और जैसे ही आप पहली बाइट मुंह में लेते हैं दांत दर्द से लगभग तड़प उठते हैं…बेचैन कर देने वाला दर्द और सेंसेशन आपके दांतों में दौड़ जाती है, यह स्थिति इस बात का लक्षण है कि आप सेंसेटिव टीथ की समस्या से गुजर रहे हैं. आपको बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि इस समस्या का इलाज आपके डॉक्टर के पास उपलब्ध है. साथ ही यह भी जान लीजिए कि इस तरह का दर्द अनुभव करने वाले भी आप अकेले नहीं है बल्कि दुनिया की आधी आबादी अपने जीवन में कभी ना कभी सेंसेटिव टीथ की समस्या से गुजरती है. यहां जिन तीन स्थितियों के बारे में बताया जा रहा है, ये मुख्य रूप से अतिसंवेदनशील दांतों के लिए उत्तदायी होती हैं…

1. मसूड़ों में ढीलापन आना

बढ़ती उम्र के साथ आपके मसूड़े घटने लगते हैं. इनकी पकड़ कुछ ढीली होने लगती है. सिर्फ  दांत ही बुढ़ापे में साथ नहीं छोड़ते बल्कि मसूड़ों की पकड़ और इनकी कसावट भी साथ छोड़ने लगती है. आपके दांतों के निचले हिस्से पर आपके मूसड़ों की पकड़ ढीली होते ही आपके डेंटाइन का एक्सपोजर बढ़ जाता है. डेंटाइन दांतों के नीचे की तरफ होते हैं. ये दांतों की सबसे ऊपरी परत एनामल से ढंके हुए ठोस टिश्यू होते हैं. 

मसूड़ों के ढीला होने पर आपका खाया और पिया हुआ बहुत ठंडा या बहुत गर्म फूड इन डेंटाइन के संपर्क में आता है और आपको बेचैन कर देने वाले तीखे दर्द का सामना करना पड़ता है. इस समस्या से छुटकारा पाने के समाधान उपलब्ध हैं. आप अपने डेंटिस्ट से इस बारे में बात करें.

2. घायल मसूड़े और एनामल

दांतों में अतिसंवेदनशीलता की स्थिति मसूडों में किसी चोट या इंफेक्शन की वजह से भी हो सकती है. अगर आपका दर्द दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है तो इस बात की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है कि ये दर्द घायल मसूड़ों या क्षतिग्रस्त एनामल की वजह से हो रहा है.

3. ब्रश करने का तरीका

अपने दांतों की सफेदी बढ़ाने के लिए आप अधिक दबाव डालकर ब्रश करते हैं, तब भी आपके दांतों की ऊपरी परत एनामल को नुकसान पहुंचता है. यदि आप जल्दी-जल्दी में ब्रश करते हैं, तभ भी इस बात की आशंका रहती है कि आप अपने मसूड़ों और एनामल को नुकसान पहुंचा रहे हों. दिन में दो बार अपने दांतों में ब्रश करें. तीन मिनट से अधिक ब्रश करने की आवश्यकता नहीं होती है. इस दौरान दांतों को आराम से और बिना दबाव डाले साफ करें.

4. दांत कटकटाना

कुछ लोगों को रात को सोते समय दांत पीसने की आदत होती है. इन्हें पता भी नहीं होता कि ये कितनी तेजी के साथ और कितनी देर तक अपने दांतों को पीसते रहते हैं. ये सब नींद में कर रहे होते हैं, इसलिए ये जान भी नहीं पाते कि ये खुद अपने दांतों को नुकसान पहुंचा रहे हैं. ऐसे में परिवार के लोगों को इनका ध्यान रखना चाहिए. क्योंकि यह स्थिति दांतों में सेसेटिविटी की वजह बन सकती है.

5. सही भोजन ना करना 

अगर आप सोडा, कोक और ऐसी दूसरी कई ड्रिंक्स का अधिक मात्रा में उपयोग करते हैं, जिनमें दांतों को नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थ होते हैं, तब भी आप अपने दांतों को खुद ही सेंसेटिविटी की तरफ थकेल रहे होते हैं. इसलिए अपने फूड पर गौर करें और देखें कि कौन-सी ड्रिंक या भोजन आपके दांतों का दुश्मन है.

6. ओरल हाइजीन की कमी

यदि आप अपने मुंह, जीभ और दांतों की साफ-सफाई पर पूरा ध्यान नहीं देते हैं, तब भी आपके दांतों में अतिसंवेदनशीलता की समस्या हो सकती है. जब कुछ खाएं उसके बाद कुल्ला जरूर करें. दिन में दो बार एक बार सुबह और एक बार रात को सोने से पहले दांतों में ब्रश जरूर करें. दिन में पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं.

7. कैविटी की समस्या और टूटा हुआ दांत

यदि आपके किसी भी दांत में कैविटी है या फिर अगर आपका कोई दांत क्रैक्ड है, ऐसे में भी आपके दांतों में सेसेटिविटी की समस्या हो सकती है. इसके लिए अपने डेंटिस्ट से जरूर मिलें और उनकी दी हुई दवाओं के साथ ही, उनके बताए गए नियमों को फॉलों करें. आपके दांत पूरी तरह ठीक हो जाएंगे.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें:

गर्मी में भी बना रहेगा चेहरे का ग्लो, जरूर ट्राई करें ये 5 स्किन केयर टिप्स

सांसों की दुर्गंध से छुटकारा पाने के लिए जरूर अपनाएं ये असरदार घरेलू नुस्खे

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *