अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप के प्रवर्तकों को फिर धमकाया! नोटिस भेजकर रिलायंस से कोई भी लेनदेन नहीं करने को कहा

Amazon- India TV Paisa
Photo:FILE

Amazon

Highlights

  • अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप के प्रवर्तकों को छह जून को भेजा नोटिस
  • अमेजन ने यह नोटिस उन मीडिया रिपोर्टों के बाद भेजा है
  • अमेजन ने कहा कि यह कदम अदालतों के समक्ष दी गई दलीलों से उलट

Amazon ने फ्यूचर ग्रुप के प्रवर्तकों को एक नोटिस भेजकर कहा है कि वे रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह के साथ किसी भी तरह के लेनदेन का हिस्सा बनने से परहेज करें। घटनाक्रम से जुड़े सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि अमेजन के इस नोटिस में फ्यूचर ग्रुप के प्रवर्तकों को रिलायंस समूह के साथ प्रत्यक्ष या परोक्ष किसी भी तरह के लेनदेन से दूर रहने को कहा गया है। अमेजन ने यह नोटिस उन मीडिया रिपोर्टों के बाद भेजा है जिनमें कहा गया था कि फ्यूचर समूह अपनी आपूर्ति श्रृंखला एवं लॉजिस्टिक कारोबार की बिक्री के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के साथ बातचीत कर रहा है। 

फ्यूचर ग्रुप पर आदेश नहीं मानने का लगाया आरोप 

अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप के प्रवर्तकों को गत छह जून को भेजे इस नोटिस में कहा है कि फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस के बीच के समझौते को फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (एफआरएल) के लेनदारों ने खारिज कर दिया था लेकिन “एफआरएल ने धोखाधड़ी और जटिल चाल के जरिये अपने 835 स्टोर पहले ही रिलायंस को सौंप दिए हैं। अब रिलायंस समूह को प्रस्तावित लेनदेन के माध्यम से अपनी समूची आपूर्ति श्रृंखला, गोदाम और लॉजिस्टिक कारोबार को स्थानांतरित करने का इरादा है।” नोटिस के मुताबिक इस तरह का कोई भी सौदा आपातकालीन मध्यस्थ के आदेश में निहित बाध्यकारी निषेधाज्ञा को दरकिनार करता है। 

अदालतों के समक्ष दी गई दलीलों के पूरी तरह उलट

अमेजन ने कहा कि यह कदम अदालतों के समक्ष दी गई दलीलों के पूरी तरह उलट है। अमेजन ने फ्यूचर समूह के साथ रिलायंस रिटेल के प्रस्तावित विलय समझौते का विरोध करते हुए लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी थी। हालांकि कर्जदाताओं की मंजूरी नहीं मिलने के बाद खुद रिलायंस ने ही इस समझौते से हटने की घोषणा कर दी थी। अमेजन अपने साथ हुए निवेश समझौते के उल्लंघन का फ्यूचर पर आरोप लगाता रहा है। 

Leave a Comment