किडनी स्टोन क्या है एवं इसके लक्षण और इसके घरेलू इलाज क्या है।

Kidney stone ke upchar : जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, आज के इस आधुनिक दौर में एवं अनियंत्रित दिनचर्या के वजह से लोगों का स्वास्थ्य प्रभावित हुआ है। एक शोध के अनुसार पता चला है कि हमारे देश में 15% से भी अधिक लोगों को गुर्दे के पथरी की समस्या रहती है एवं 50% इस बीमारी के चपेट में आने वाले लोग ज्यादातर किडनी के खराब होने की वजह से होते हैं।

गुर्दे की पथरी क्या होती है ? ( About kidney stone in Hindi)

मुख्य रूप से किडनी स्टोन खनिजों और लवणों के साथ मिलकर बना होता है और यह केवल मुख्यतः गुर्दे में ही पाया जाता है। गुर्दे की पथरी सबसे ज्यादा मूत्राशय के मार्ग में अवरोध उत्पन्न करती है और इसकी वजह से मूत्र विसर्जन करने एवं गुर्दे में आसानी प्रकाश से दर्द होने की अनुभूति होती है। गुर्दे की पथरी को नेफ्रोलिथियासिस के नाम से जाना जाता है।

गुर्दे के पथरी होने के लक्षण ( symptoms of kidney stone in Hindi)

शुरुआती समय में जब किडनी स्टोन होती है, तब इसके बहुत ही कम लक्षण हमें समझ में आते हैं, परंतु जब यह धीरे-धीरे जटिल होती जाती है, तो इसके लक्षण भी हमें नजर आने लगते हैं जो इस प्रकार से निम्न है।

  • पसलियों के नीचे एवं पीठ में धीरे-धीरे दर्द महसूस होने लगता है।
  • जब पीठ में दर्द होता है, तब धीरे-धीरे हमें मछलियां और उल्टी भी महसूस होने लगती है।
  • पेशाब करते वक्त समय-समय पर खून आना।
  • पेशाब का रंग गाढ़ा एवं बदबूदार हो जाना।
  • पथरी के छोटे-छोटे टुकड़े पेशाब के रास्ते से बाहर आना।
  • पथरी होने पर अचानक से तेजी से पेशाब महसूस होना।
  • पेशाब करते वक्त दर्द का महसूस होना।

गुर्दे की पथरी के कुछ घरेलू उपाय ? (Domestic remedies for kidney stone in Hindi)

यदि आप गुर्दे की पथरी का इलाज ढूंढ रहे हैं, तो आप कुछ घरेलू उपाय के जरिए अपने गुर्दे की पथरी को ठीक कर सकते हैं। चलिए जानते हैं, कुछ गुर्दे की पथरी के घरेलू उपाय जो इस प्रकार से निम्न है।

  1. तुलसी के पत्ते का सेवन करें :-

    यदि आप गुर्दे की पथरी से परेशान है, तो आप नियमित रूप से पांच से सात तुलसी के पत्तों का सेवन कर सकते हैं। तुलसी के पत्ते में ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो गुर्दे की पथरी को तोड़ते हैं एवं पेशाब के रास्ते बाहर निकालते हैं। तुलसी की पत्ती के सेवन से पथरी के दर्द से भी हमें राहत मिलती है।
  2. चौलाई के सब्जी का करें सेवन :-

    गुर्दे की पथरी के घरेलू उपचार में आप नियमित रूप से चलाई के सब्जी का सेवन कर सकते हैं, यह इस बीमारी का रामबाण इलाज घरेलू उपचार में माना जाता है।
  3. सेब के सिरके का सेवन :-

    पथरी के जोखिम में सेब के सिरके का सेवन करने से बढ़ते हुए पथरी को नियंत्रण में लाया जा सकता है।इसके अतिरिक्त यह धीरे-धीरे पटरी को काटता है एवं पेशाब के रास्ते से बाहर भी निकालता है एवं पथरी के असहाय दर्द से आपको सेब का सिरका राहत भी प्रदान कर सकता है।
  4. अनार के जूस का करें सेवन :-

    यदि आप गुर्दे के पथरी से परेशान हैं, तो आप ऐसे में अनार के जूस का भी सेवन कर सकते हैं और यह गुर्दे के पथरी का सबसे रामबाण इलाज माना जाता है। इसके सेवन से गुर्दे में मौजूद पथरी को अलग-अलग टुकड़ों में विभाजित किया जाता है और फिर यह आपके शरीर के अंदर से पेशाब के रास्ते पथरी को बाहर निकालने में भी काफी लाभकारी है।

 

  1. पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन निरंतर रूप से करते रहें :-

    जब आपको गुर्दे की पथरी की शिकायत हो जाए तब आप को जितना हो सके उतना अधिक से अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए।पानी हमारे शरीर में मौजूद अशुद्धियों को बाहर करता है एवं पथरी में यह सबसे लाभकारी माना जाता है।पानी के अत्यधिक सेवन से पथरी धीरे-धीरे करके पेशाब के रास्ते बाहर निकलने लगती है।
  2. खजूर का सेवन करें :-

    खजूर ना केवल स्वाद में स्वादिष्ट लगता है, बल्कि यह पथरी के इलाज में भी काफी लाभकारी माना जाता है।गुर्दे की पथरी से राहत पाने के लिए आपको रात भर खजूर को पानी में भिगोकर रखना है और फिर इसे सुबह खाकर पानी पीना है। खजूर के अंदर अच्छी मात्रा में फाइबर पाया जाता है और यह गुर्दे के पथरी के लिए काफी लाभकारी भी है।
  3. तरबूज का करें सेवन :-

    तरबूज के अंदर पानी की अधिकता के साथ-साथ पोटेशियम भी मौजूद होता है और यह गुर्दे में मौजूद पथरी को बाहर निकालने में काफी लाभकारी है। तरबूज के सेवन से शरीर में पानी का धीरे-धीरे बढ़ने लगता है और फिर पेशाब के रास्ते पथरी बाहर निकलने लगती है।

निष्कर्ष :-

गुर्दे की पथरी के लक्षण एवं इतनी घरेलू उपाय से संबंधित आज का हमारा यह लेख आपके लिए काफी ज्यादा लाभकारी सिद्ध हुआ होगा।यदि हमारा आज का यह लेख आपके लिए लाभकारी सिद्ध हुआ हो तो आप इसे अपने मित्र जन एवं परिजन के साथ अवश्य साझा करें। आपके कोई सवाल या सुझाव है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

Leave a Comment